आई लव यू टू बेटा “धन्याश्री” : आप सुरक्षित रहें , मुसलमानों का क्या , उसके लिए हर जगह परिस्थितियाँ विपरीत ही हैं?

 

मोहम्मद जाहिद
बेंगलुरु में 20 साल की एक युवती “धन्याश्री” ने एक दिन पहले आत्महत्या कर लिया। बीकॉम की स्टूडेंट धन्याश्री को शनिवार को उसके कमरे में लटका पाया गया।

मरने से पहले उसने अपने एक मित्र संतोष से व्हाट्सअप चैट में एक मैसेज भेजा था जिसमें लिखा था ‘आई लव मुस्लिम्स’।

इस पर संतोष ने मुस्लिमों से कोई भी रिश्ता रखने को लेकर उसे चेतावनी दी। इतना ही नहीं उसने उस बातचीत का स्क्रीनशॉट बंजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद के सदस्यों के साथ भी शेयर किया।

 

ये स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर वायरल हो गया , चिकमंगलूर के एसपी एम अन्नामलाई के अनुसार कुछ युवा विंग के नेता जिसमें बीजेपी यूथ विंग का “अनिलराज” भी था ने “धन्याश्री” के घर जाकर उसे और उसकी मां को धमकाया।

अगले ही दिन डरी सहमी धन्याश्री ने सुसाइड कर लिया। “धन्याश्री” के शव के पास से पुलिस को एक नोट भी मिला।इस नोट में उसने लिखा तथा कि इस घटना ने उसकी जिंदगी और पढ़ाई-लिखाई बर्बाद कर दी।

यह घटना ज़हर के उस स्तर को टेस्ट करने के लिए है कि संघ और भाजपा की राजनीति से देश में किस स्तर तक फैला है।

देश की दूसरी सबसे बड़ी आबादी के विरुद्ध जिस तरह देश के एक वर्ग में घृणा भरी जा रही है उसका विभत्स परिणाम तभी तक नहीं आएगा जब तक की उस दूसरी सबसे बड़ी आबादी में सहनशीलता बची है। और तमाम मुसलमानों की हत्याओं , उत्पीड़न और संस्थागत आत्याचार बर्दाश्त करके भी देश का 25 करोड़ मुसलमान शांती बनाए हुए है।

उसको देशहित के इस काम के लिए “साधूवाद”।

बचपन से ही मेरी बेहद करीबी दोस्ती हिन्दुओं से रही है मुसलमानों से कम , मेरी 2 मुंहबोली बहने भी हिन्दू ही हैं जो मुझे अपने सगे भाई से पहले राखी बाँधती हैं , मेरे संघर्ष से सफल व्यवसायिक जीवन तक , अब तक जितने भी व्यापारी , कर्मचारी रहे हैं 99•99% हिन्दू ही रहे हैं , सनातन धर्म की संस्कृति और धार्मिक क्रिया कर्म मैंने इन सबके बीच ही रह कर देखा और जाना है और मुझे जानने वाले जानते हैं कि मैं सच में अपने हिन्दू दोस्तों को प्यार करता हूं परन्तु ना तो किसी मौलवी , किसी मस्जिद या घर में किसी ने मुझे ऐसा करने से रोका ना आपत्ती जताई।

देश की 25 करोड़ आबादी के खिलाफ़ नफरत भर कर यह संघी कौन सा हिन्दुस्तान बनाना चाहते हैं यह तो वही जाने क्युंकि इसका परिणाम यदि मुसलमानों ने प्रतिक्रिया कर दी तो बेहद विभत्स होगा।

किसी लड़की ने “आई लव मुस्लिम्स” कह दिया तो उसे आत्महत्या करने पर मजबूर कर दिया गया , कोई काश्मीरी मुसलमान किसी ट्रेन में बिना टिकट चढ़ गया तो वह आतंकवादी हो गया , कोई मुसलमान गोवंश के साथ दिखा तो वह “गोतस्कर” हो गया , मार डाला गया , उसके संवैधानिक अधिकार वाले शरियत में ज़बरदस्ती दखल दिया जा रहा है , उसके खाने पीने पर रोक लगाई जा रही है , उसके धार्मिक शिक्षण संस्थाओं को परेशान और बदनाम किया जा रहा है , उसके संस्थानों पर भगवा पुताई कराई जा रही है , साजिश करके उसकी अज़ानों पर रोक लगाई जा रही है और इस सबके बावजूद देश का मुसलमान सब्र से काम ले रहा है , शांत और संयमित है।

तो उसे साधूवाद देना तो बनता ही है।

देश के अन्य हिन्दू भाईयों से निवेदन है कि वह मुसलमानों से प्रेम और करीबी का सार्वजनिक प्रदर्शन ना करें अन्यथा ये संघी आतंकी “धन्याश्री” जैसा परिणाम दे सकते हैं।

आप सुरक्षित रहें , मुसलमानों का क्या , उसके लिए हर जगह परिस्थितियाँ विपरीत ही हैं , क्या इराक , क्या सीरिया , क्या अफगानिस्तान और क्या हिन्दुस्तान।

आई लव यू टू बेटा “धन्याश्री” ईश्वर तुम्हारी नेक आत्मा को शांती दे।

“आँसुओं के साथ भावभीनी श्रृद्धान्जली”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)