निकाय चुनाव Live:गोरखपुर में योगी ने डाला वोट,कानपुर में EVM खराब, बूथों पर हंगामा

0
79

यूपी में निकाय चुनाव के लिए सुबह 7.30 बजे 24 जिलों में मतदान की प्रक्रिया शुरू हो गई। बूथों के बाहर मतदाताओं की लंबी कतार लगी है। मतदान शांति पूर्ण संपन्न कराए जाने के लिए मंगलवार की शाम से ही जिले की सभी सीमाएं सील कर दी गयी है। सुरक्षा के दृष्टि से सभी मतदान केंद्रों पर पुलिस फोर्स तैनात है।मेरठ, गोंडा , उन्नाव, गोरखपुर में वोटिंग शुरू हो गई है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में अपना वोट डाला और कहा कि विपक्ष किसी भी कीमत से नहीं जीत पाएगा। बीजेपी प्रचंड बहूमत से आएगी।

लाइव अपडेट्स

-आज़मगढ़ के सगड़ी तहसील स्थित महराजगंज नगर पंचायत में सुबह सुबह मतदान के लिए पहुंचे मतदाता और मुस्तैद सुरक्षाकर्मी
-अयोध्या नगर निगम के विभिन्न मतदान केंद्रों पर कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान जारी
-कानपुर में 50 से ज्यादा बूथों में ईवीएम खराब होने से वोटिंग देर से शुरू हो पाई, कई जगह हंगामा।
-उन्नाव में समय से शुरू हुआ मतदान
-योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में डाला वोट।
-मेरठ में नगर निगम चुनाव के लिए मतदान शुरू, बूथों पर पहुंचने लगे लोग
-वोटिंग शुरू हो गई है। मतदान के लिए गोंडा में लंबी कतारें लग गई हैं।
-वोटिंग से पहले योगी आदित्यनाथ ने की पूजा।

ये हैं जिले, जहां होगी वोटिंग

इस चरण में राज्य के 24 जिलों शामली, मेरठ, हापुड़, बिजनौर, बदायूं, हाथरस, कासगंज, आगरा, कानपुर, जालौन, हमीरपुर, चित्रकूट, कौशाम्बी, प्रतापगढ़,उन्नाव, हरदोई, अमेठी, फैजाबाद, गोंडा, बस्ती, गोरखपुर, आजमगढ़, गाजीपुर और नक्सलवाद से प्रभावित सोनभद्र जिले में मतदान होगा।

पहले चरण में सबसे दिलचस्प चुनाव अयोध्या नगर निगम का माना जा रहा है,जहां समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी के रूप में मेयर पद के लिये किन्नर गुलशन बिन्दु चुनाव मैदान में है। किन्नर के चुनाव लडने की वजह से अयोध्या का चुनाव लोगों के आकर्षण का केन्द्र बना हुआ है। अयोध्या में पहली बार मेयर और पार्षदों का चुनाव होगा क्योंकि इसे हाल ही में नगर निगम बनाया गया है।

एसपी अजय कुमार साहनी ने बताया कि स्वतंत्र, निष्पक्ष और शांतिपूर्ण मतदान के लिए जिले की सभी सीमाएं सील कर दी गई है। शांतिपूर्ण चुनाव कराने के लिए 15 सीओ,17 एसओ, 307 सब इंस्पेक्टर, दो हजार कांस्टेबल, 16 सौ होमगार्ड  और 36 सेक्शन पीएसी के अलावा सीआरपीएफ फोर्स भी तैनात की गई है। सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी आरके सिंह ने बताया कि निष्पक्ष मतदान के लिए दो नगर पालिका परिषद एवं 11 नगर पंचायतों को 4 जोन में बांटा गया है। प्रत्येक जोन में सुपर जोनल अधिकारी व सुपर जोनल पुलिस अधिकारी तैनात किए गए हैं।

इन पहचान पत्रों से डाल सकते हैं वोट

मतदाता पहचान-पत्र, आधार कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, राशन कार्ड, पैनकार्ड, राज्य, केंद्र व सार्वजनिक क्षेत्रों के कर्मचारियों को जारी किया गया पहचान-पत्र, सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक व पोस्ट ऑफिस की ओर से जारी फोटोयुक्त पासबुक, फोटोयुक्त संपत्ति संबंधी मूल अभिलेख, फोटोयुक्त पेंशन अभिलेख, फोटोयुक्त स्वतंत्रता संग्राम सेनानी पहचान पत्र, फोटोयुक्त शस्त्र लाइसेंस, फोटोयुक्त शारीरिक रूप से अशक्त प्रमाण-पत्र, श्रम मंत्रालय की योजना के अंतर्गत जारी स्वास्थ्य बीमार स्मार्ट कार्ड, राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर और सांसद व विधायक को जारी किए गए सरकारी पहचान-पत्र।

देर रात तक पहुंचाई गईं मतदाता पर्चियां

आयोग की ओर से आईं मतदाता पर्चियां देर रात तक बीएलओ घरों में पहुंचाते रहे। सुबह से ही लोगों के घरों में जाकर बची-खुची पर्चियां भी पहुंचा दी गईं। डीएम ने बताया कि मतदाता पर्ची के साथ ही वोटिंग के लिए आयोग की ओर से जारी किए गए 16 पहचान पत्रों में से एक लेकर जाना जरूरी है। मतदाता पर्ची सिर्फ जानकारी के लिए है।

अति संवेदनशील बूथों का लाइव टेलीकास्ट

निकाय चुनाव में पहली बार 50 मतदान केंद्रों में 177 अति संवदेनशील प्लस बूथ बनाए गए हैं। इनकी विशेष निगरानी की जाएगी। अति संवदेनशील 699 और संवेदनशील 522 बूथ बने हैं। अब इनकी निगरानी ड्रोन, वेब कास्टिंग और सीसीटीवी कैमरे के जरिए होगी। अति संवेदनशील प्लस बूथों का लाइव टेलीकास्ट आयोग तक होगा। इसे कोई भी मोबाइल पर देख सकेगा। वेब कास्टिंग की पूरी व्यवस्था कर दी गई है। आयोग के निर्देश पर कुछ मतदान केंद्र व बूथों को कम किया गया है।

20 ड्रोन बवालियों पर रखेगे निगाह

20 ड्रोन बवालियों पर निगाह रखेंगे। अति संवेदनशील प्लस के साथ ही बवाली जगहों की पल-पल निगरानी 20 ड्रोन करेंगे। छत पर इकट्ठा होने वाले लोग और पत्थरों की मॉनीटरिंग भी ड्रोन करेगा। अगर कोई भी संदिग्ध व्यक्ति या वस्तु नजर आया तो तत्काल कार्रवाई होगी। ड्रोन का नोडल एसडीएम नर्वल राहुल कश्यप विश्वकर्मा को बनाया गया है।

मतदान केंद्र के 100 मीटर दूर तक रहेंगे वाहन

चुनाव वाले दिन वाहनों के आवागमन पर तो कोई रोक नहीं है पर मतदान केंद्र के 100 मीटर दूर तक ही वाहन लाया जा सकता है। इसलिए सभी शहरवासी आसानी से वाहन लेकर वोट की चोट के लिए जा सकते हैं। हालांकि कोई भी वाहन से मतदाता को ढोया नहीं जाएगा। कोई भी किसी की मदद करते हुए उसे मतदान केंद्र तक ले जाकर और ला सकता है। बड़ी तादाद में वाहनों से वोटरों को ढोया नहीं जाएगा। 100 मीटर की दूरी पर ही वाहन को खड़ा करना होगा।

स्याही मिटाई तो होगी रिपोर्ट 

निकाय चुनाव में फर्जी वोटिंग पर रोक लगाने के लिए इस बार उंगली पर लगने वाली स्याही पर विशेष निगाह रहेगी। पीठासीन सिंह अधिकारी से लेकर बाहर पुलिस कर्मी तक मतदाताओं की उंगलियां देखेंगे। अगर किसी ने स्याही मिटाई या क्रीम लगाई तो उसकी वीडियोग्राफी कराकर तुरंत कार्रवाई होगी। मतदान पर विशेष निगाह होगी।

200 मीटर दूर लगेंगे बस्ते

मतदान केंद्र से 200 मीटर दूरी पर ही प्रत्याशियों के बस्ते लग सकते हैं। एक बस्ते में एक टेबिल और दो कुर्सियां पड़ेंगी। अगर बस्ते पर भीड़ लगी तो तत्काल पुलिस और टीमें कार्रवाई करेंगी। मतदान केंद्र से 200 मीटर से करीब अगर बस्ता लगा तो प्रत्याशियों पर कार्रवाई की जाएगी। डीएम ने बताया कि बस्तों पर लगने वाली भीड़ और प्रचार को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। मतदान केंद्र के 100 मीटर तक कोई प्रचार नहीं होगा।

88 क्यूआरटी टीमें लगीं

चुनाव में किसी भी तरह का बवाल होने पर तीन से पांच मिनट में क्यूआरटी टीमें पहुंचेंगी। एसएसपी ने बताया कि जिले में 88 क्यूआरटी टीमें तैनात कर दी गई हैं। शहर को चार कंपनी सीआरपीएफ भी मिल गई है। पूरी फोर्स आ चुकी है। अब उनको तैनात करके निकाय चुनाव की बराबर मॉनीटरिंग कराई जाएगी। टीमें लगातार मूवमेंट करती रहेंगी ताकि कोई अप्रिय घटना न हो।

पांच लाइनों वाला कंट्रोल रूम शुरू

निकाय चुनाव में अगर आपके आसपास किसी भी तरह की घटना और परेशानी है तो आप तत्काल कंट्रोल रूम में फोन करके शिकायत कर सकते हैं। डीएम ने बताया कि कंट्रोल रूम 0512-2304121 को चालू कर दिया गया है। इसमें लगातार शहरवासी शिकायत दर्ज करा रहे हैं। बुधवार को एक साथ एक फोन पर पांच व्यक्ति शिकायत दर्ज करा सकेंगे। पांच लाइनों से फोन उठेगा। इसके लिए ऑपरेटर तैनात कर दिए गए हैं।

29 जोनल, 118 सेक्टर मजिस्ट्रेट तैनात किए गए 

निकाय चुनाव को देखते हुए 29 जोनल और 118 सेक्टर मजिस्ट्रेट को तैनात कर दिया गया है। सभी जोनल और सेक्टर मजिस्ट्रेट पल-पल की निगरानी रखेंगे। अगर किसी भी तरह की कोई दिक्कत होती है तो तत्काल सेक्टर और जोनल मजिस्ट्रेट उसे पहुंचकर दूर करेंगे।

177 बूथ से लाइव टेलीकास्ट, 487 सीसीटीवी लगे

निकाय चुनाव में संवेदनशीलता को देखते हुए अतिसंवेदनशील प्लस 177 बूथों का लाइव टेलीकास्ट होगा। इसकी निगरानी आयोग तक होगी। 485 वीडियो कैमरे भी लगाए गए हैं। 487 सीसीटीवी लगे हैं। सभी बूथों की पल-पल निगरानी होगी। इसके लिए पूरी व्यवस्था कर दी गई है।

एक नजर में जिले की स्थिति-

निकाय                             वार्ड              मतदान केंद्र               मतदाता
नगर निगम                       110             549                         2135072
नगर पालिका घाटमपुर         25              10                            32203
नगर पालिका बिल्हौर            25              08                           15838
नगर पंचायत बिठूर               10              05                            8550
नगर पंचायत शिवराजपुर       11              04                            8609

प्रत्याशी एक नजर में-

निकाय                           पार्षद/सदस्य               महापौर/अध्यक्ष
नगर निगम                     1239                           13
नगर पालिका बिल्हौर         78                              09
नगर पालिका घाटमपुर       141                            14
नगर पंचायत बिठूर            43                              09
नगर पंचायत शिवराजपुर    45                              13

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)